Breaking

Sunday, January 10, 2021

मेरी सच्ची प्रेम कहानी | Real Love Story in Hindi

Real Love Story in Hindi
Real Love Story in Hindi


मेरी सच्ची प्रेम कहानी | Real Love Story in Hindi- मेरा नाम रमेश है. ये मेरी ये सची प्रेम कहानी है. में दिल्ली कॉलेज में पड़ता हु. ये बात उन दिनों की है जब मेरी मुलाकात एक दोस्त की शादी में एक लड़की से हुई थी. उसका नाम शालिनी था। वो बहुत ही खुबसूरत थी। और अपने फाइनल इयर में थी। जब शादी में वरमाला की रस्म चल रही थी तभी में उसे और वो मुझे बार बार देख रहे थे.


जुटे चुराई की रस्म में तो वो हमसे बहुत छेड्कानी और हम उससे बहुत मजाक कर रहे थे. पुरे ३००० रुपए में बात तय हुई थी। शादी हो गयी और वो अपने घर चली गयी। में उसके बारे में बार बार सोच रहा था. जब मेरा दोस्त हनीमून से वापस आया तो मेने उसकी बारे में पूछा। उसने बताया की उसका नाम शालिनी है और वो उसकी पत्नी की बहुत घहरी दोस्त है।

Read also-  हम आपके नहीं हो सकते | Heart Touching Story | Sad Love Story In Hindi

मेरे दोस्त की पत्नी अपने मइके चली गयी। फिर हम उसे लेने गए, में शालिनी को वह देख कर चौक गया। मेरे दिल से निकला वायो वायो मज़ा आ गया। मेरे चहरे पर एक स्माइल सी आ गयी। मेने उससे बात की और पुछा उसके बारे में। वो भी पढ रही थी कॉलेज में। फिर हम दोनों में मिलने का सिलसिला चला। में उससे दिल ही दिल में प्यार करने लगा ओर फिर एक दिन उससे शादी की बात कर दि. वो भी मुझे चाहती थी और शादी करने के लिए तयार हो गयी थी।

Read also-  प्रेम कहानी | एक लड़की के पीछे पीछे घूमता रहा 

मेने अपनी शादी की बात आगे बड़ाने के लिए अपने दोस्त की वाइफ से बोला तो वो मान गए और उसके पापा से बात चलने के लिए मान गये. मेरी कास्ट छोटी थी और वो ब्राहमण थे , बात तो सुरु की बार उसके डैडी और भियो ने मन कर दिया। हम दोनों कई बार मिले और भाग जाने का फेसला भी किया और एक दिन दोनों घर से निकल गये और साउथ में रहने लगे. हमारी खबर किसी को नहीं थी मेरे दोस्त के सिवाए। चारो तरफ उसके भाई मेरी तलाश में लग गए. मेरी पुलिस में कंप्लेंट भी करवा दी. मुझे डरने की कोई जरुरत नहीं थी चुकी हम दोनों अठरा साल से ऊपर के थे. २ महीने हम दोनों वह रहे और एक दिन उसका भाई मेरे यहाँ आ गया। उसने हम दोनों को धमकाया और मुझे जान से मरने की धमकी भी दि. मेंने सोचा की वो कुछ नहीं करेगा पर कुछ दिनों बात हम दोनों को रस्ते में ही कुछ आदिमियो ने घेर लिया और मेरी पत्नी को मार दिया में वह से भगा पर पर भाग न सका और मुझे उन्होंने बहुत मरा. मेरी सास चल रही थी में भगवन की किरिपा से बच गया था। मेने उनके खिलाफ कंप्लेंट करी ठाणे में। उन कर केस चला और उसके भाई समेत ४ लोगो को उम्र कद की सजा सुना दी कोर्ट ने. मेरी जिंदगी अब बर्बाद हो गयी है चुकी में अपनी टांग खो बेठा हु. रोज रो रो कर अपनी ज़िन्दगी बिताता हु। अब सिर्फ में और मेरी तन्हैया रह गयी है।



                                                                         ---------✱✱✱---------

No comments:

Post a Comment

Adbox