Skip to main content

Posts

Showing posts from January, 2021

मेरी सच्ची प्रेम कहानी | Real Love Story in Hindi

Real Love Story in Hindi मेरी सच्ची प्रेम कहानी | Real Love Story in Hindi-  मेरा नाम रमेश है. ये मेरी ये सची प्रेम कहानी है. में दिल्ली कॉलेज में पड़ता हु. ये बात उन दिनों की है जब मेरी मुलाकात एक दोस्त की शादी में एक लड़की से हुई थी. उसका नाम शालिनी था। वो बहुत ही खुबसूरत थी। और अपने फाइनल इयर में थी। जब शादी में वरमाला की रस्म चल रही थी तभी में उसे और वो मुझे बार बार देख रहे थे. जुटे चुराई की रस्म में तो वो हमसे बहुत छेड्कानी और हम उससे बहुत मजाक कर रहे थे. पुरे ३००० रुपए में बात तय हुई थी। शादी हो गयी और वो अपने घर चली गयी। में उसके बारे में बार बार सोच रहा था. जब मेरा दोस्त हनीमून से वापस आया तो मेने उसकी बारे में पूछा। उसने बताया की उसका नाम शालिनी है और वो उसकी पत्नी की बहुत घहरी दोस्त है। Read also-    हम आपके नहीं हो सकते | Heart Touching Story | Sad Love Story In Hindi मेरे दोस्त की पत्नी अपने मइके चली गयी। फिर हम उसे लेने गए, में शालिनी को वह देख कर चौक गया। मेरे दिल से निकला वायो वायो मज़ा आ गया। मेरे चहरे पर एक स्माइल सी आ गयी। मेने उससे बात की और पुछा उसके बारे में। वो भी

बाज और किसान की कहानी | Eagle & Farmer Inspirational Story

बाज और किसान की कहानी | Eagle & Farmer Inspirational Story- यह कहानी एक बाज़ और किसान की है.जिस माय एक बाज़ का बच्चा जो उड़ नहीं पता है और कई लोग उसे उड़ने की कोशिस करते है पर उदा नहीं पते है.पर एक किसान जो पढ़ा लिखा नहीं है वो उस बाज क उड़ने में कामियाब हो जाता है.और इस बाज और किसान से हमे बड़ी सिख मिलाती है जो आप विदे देखके जन ले। Eagle & Farmer Inspirational Story Eagle & Farmer Inspirational Story, Moral Story in hindi, hindi motivational story, inspirational Story बहुत समय पहले की बात है , एक राजा को उपहार में किसी ने बाज के दो बच्चे भेंट किये । वे बड़ी ही अच्छी नस्ल के थे , और राजा ने कभी इससे पहले इतने शानदार बाज नहीं देखे थे। राजा ने उनकी देखभाल के लिए एक अनुभवी आदमी को नियुक्त कर दिया। जब कुछ महीने बीत गए तो राजा ने बाजों को देखने का मन बनाया , और उस जगह पहुँच गए जहाँ उन्हें पाला जा रहा था। राजा ने देखा कि दोनों बाज काफी बड़े हो चुके थे और अब पहले से भी शानदार लग रहे थे । राजा ने बाजों की देखभाल कर रहे आदमी से कहा, ” मैं इनकी उड़ान देखना चाहता हूँ , तुम इन्हे उड़ने क

तीन मछलियां पंचतंत्र की कहानी | Teen Machhliyan Panchtantra story

  Teen Machhliyan Panchtantra story Teen Machliyo ki Kahani, Panchtantra ki Kahani, Moral Story in hindi,Teen Machliyo ki Kahani,Panchtantra ki Kahani,Moral Story in hindi, बहुत पहले की बात है, एक जंगल के अंदर एक नदी बहा करती थी, जिसमें उस नदी मेँ तीन दिव्य मछलियाँ रहती थीँ। वहाँ की तमाम मछलियाँ उन तीनोँ के प्रति ही श्रध्दा मेँ बँटी हुई थीँ। एक मछली का नाम व्यावहारिकबुद्धि था, दुसरी का नाम मध्यमबुद्धि और तीसरी का नाम अतिबुद्धि था। अतिबुद्धि के पास ज्ञान का असीम भंडार था। वह सभी प्रकार के शास्त्रोँ का ज्ञान रखती थी। मध्यमबुद्धि को उतनी ही दुर तक सोचनेँ की आदत थी, जिससे उसका वास्ता पड़ता था। वह सोचती कम थी, परंपरागत ढंग से अपना काम किया करती थी।व्यवहारिक बुद्धि न परंपरा पर ध्यान देती थी और न ही शास्त्र पर। उसे जब जैसी आवश्यकता होती थी निर्णय लिया करती थी और आवश्यकता न पड़नेँ पर किसी शास्त्र के पन्ने तक नहीँ उलटती थी। एक दिन कुछ मछुआरे सरोवर के तट पर आये और मछलियोँ की बहुतायत देखकर बातेँ करनेँ लगे कि यहाँ काफी मछलियाँ हैँ, सुबह आकर हम इसमेँ जाल डालेँगे। उनकी बातेँ मछलियोँ नेँ सुनीँ। Teen Ma

चार मोमबत्तियां | Four candles | Moral Story in Hindi

Moral Story in Hindi Moral Story in Hindi, motivational kahani in hindi, motivational story in hindi, Best Motivational Story In Hindi, Naitik Shiksha Kahani रात का समय था, चारों तरफ सन्नाटा पसरा हुआ था , नज़दीक ही एक कमरे में चार मोमबत्तियां जल रही थीं। एकांत पा कर आज वे एक दुसरे से दिल की बात कर रही थीं। पहली मोमबत्ती बोली, ” मैं शांति हूँ , पर मुझे लगता है अब इस दुनिया को मेरी ज़रुरत नहीं है , हर तरफ आपाधापी और लूट-मार मची हुई है, मैं यहाँ अब और नहीं रह सकती। …” और ऐसा कहते हुए , कुछ देर में वो मोमबत्ती बुझ गयी। दूसरी मोमबत्ती बोली , ” मैं विश्वास हूँ , और मुझे लगता है झूठ और फरेब के बीच मेरी भी यहाँ कोई ज़रुरत नहीं है , मैं भी यहाँ से जा रही हूँ …” , और दूसरी मोमबत्ती भी बुझ गयी। Moral Story in Hindi, motivational kahani in hindi, motivational story in hindi, Best Motivational Story In Hindi, Naitik Shiksha Kahani तीसरी मोमबत्ती भी दुखी होते हुए बोली , ” मैं प्रेम हूँ, मेरे पास जलते रहने की ताकत है, पर आज हर कोई इतना व्यस्त है कि मेरे लिए किसी के पास वक्त ही नहीं, दूसरों से तो दूर लोग

दर्द भरी प्रेम कहानी…बच गया राजा, चली गई रानी | Heart touching hindi love story

Heart touching hindi love story Heart touching hindi love story,  Best love story, Girls love story in hindi, Best hindi love story महबूबा की लाश से लिपट, फफक-फफककर रो पड़ा रोमेश। देखने वालों की आंख भर आई पर शव श्मशान नहीं गया। मरने वाली दुल्हन बनी और दूल्हे की तरह सजा रोमेश…वही रोमेश, जिस पर कुंजुम की हत्या का आरोप था। जेल से महज शादी करने के लिए वो कुंजुम के शव तक पहुंचा था। एक वादा था, जो निभाया गया और फिर कुंजुम सदा-सदा के लिए सबसे ज़ुदा हो गई। दस साल तक सलाखों के पीछे रहने के बाद रोमेश को बरी कर दिया गया है। अब तो शायद ही किसी को याद हो रोमेश-कुंजुम की प्रेमकहानी, लेकिन यह एक ऐसी लवस्टोरी है, जिसमें किसी सस्पेंस, थ्रिलर फ़िल्म से कम टर्न नहीं हैं। Read also-    हम आपके नहीं हो सकते | Heart Touching Story | Sad Love Story In Hindi कुंजम बुद्धिराजा का 20 मार्च, 1999 को रोमेश शर्मा के जय माता दी फार्म हाउस में कत्ल कर दिया गया था। उस समय रोमेश तिहाड़ की कैद भुगत रहा था। उस पर बहुत-से आरोप थे। हालांकि जेल जाने से पहले रोमेश की पहचान एक सियासी व्यक्ति के रूप में ही होती थी। शान-ओ-शौकत

मेरे दोस्त के सच्चे प्रेम की कहानी | True love story in hindi

  True love story in hindi True love story in hindi, sad true love story hindi, real true love story hindi, true sad love story hindi, heart touching true love story hindi, best true love story hindi मेरे दोस्त का नाम साहिल है. साहिल एक स्वभाव का अच्छा और सुंदर लड़का है. यह कहानी उस समय की है जब साहिल एक लड़की से प्यार करता था. उस लड़की का नाम मोना था. साहिल और मोना दोनों कॉलेज में पढ़ते थे और वहीँ पर उनकी पहली मुलाकात हुई थी. उनकी बहूत अच्छी दोस्ती हो चुकी थी. वह प्रतिदिन मिलते रहे और उनकी दोस्ती प्यार में बदल गई. वे अपने सुख - दुख एक साथ मनाते थे. फिर एक दिन साहिल का जन्म दिन आया. मोना ने खूब तैयारी की थी. उस दिन सवेरे मोना ने साहिल को फ़ोन किया और उन्हें जन्मदिन की ढेर सारी शुभकामनाएँ दी. मोना ने साहिल को कहा कि वह तुरंत उनके घर आ पहुँचेगी. इसलिए साहिल तैयार हो कर बैठ गया. True love story in hindi, sad true love story hindi, real true love story hindi, true sad love story hindi, heart touching true love story hindi, best true love story hindi बहुत समय बीत जाने के बाद भी जब मोना साहिल के

प्रेम कहानी | एक लड़की के पीछे पीछे घूमता रहा | best love story in hindi

Beautiful Love Story In Hindi Love story in hindi । best love story in hindi । new best love story in hindi मै अपनी B.A. की पड़ाई पूरी करने के बाद मै नौकरी की तलास में अपने गॉव के एक दोस्त के साथ दिल्ली के पास नोएडा में आ गया ! मै जल्द ही MultiNational Company में Compuer operater के पद नौकरी कर ली ,फिर एक कमरा किराये पर लेकर रहने लगा जिस मकान मे रहता था वह तीन मंजिल मकान का था ! और मैं सबसे ऊपर वाली मंजिल पर रहता था एक दिन जब मै छत पर गया और इधर उधर टहलने लगा तभी मेरी अचानक नजर बगल वाले छत पर गई तो देखा एक लड़की हमे बड़े प्यार से देख रही हैं , मै भी उसे देखने लगा थोड़ी देर बाद वो मुस्कुराकर चली गई ! मुझे एैसा लगा की शायद वो मुझे like कर रही हैं !पता नही क्यो उस लड़की को बार -बार देखने को मन करता फिर मै हर दिन उसे देखने के लिये मै अपने छत पर जाया करता था, वो भी मुझे देखने के लिये आया करती थी ! एैसे ही ये सिल – सिला 6 महीनो तक चलता रहा फिर मै किसी तरह उस लड़की का नाम पता किया उस लड़की का नाम 'Rani' था ! वो BSC कर रही थी और साथ मे computer Course कर रही थी ! वो शाम को जब अपने Com

ईमानदारी की कहानी – ईमानदारी ही सबसे बड़ा धन है | Honesty story - Hindi Story

दोस्तों आज मैं आप सब लोगों के लिए एक ( Honesty story for kids ) लाया हूं जो आप लोगों को बहुत ही पसंद आएगा | The stories have educational value and eliminate with a Teaching lessons for the visitor. Hindi moral stories for kids मुरारी लाल अपने गाँव के सबसे बड़े चोरों में से एक था। मुरारी रोजाना जेब में चाकू डालकर रात को लोगों के घर में चोरी करने जाता। पेशे से चोर था लेकिन हर इंसान चाहता है कि उसका बेटा अच्छे स्कूल में पढाई करे तो यही सोचकर बेटे का एडमिशन एक अच्छे पब्लिक स्कूल में करा दिया था। मुरारी का बेटा पढाई में बहुत होशियार था लेकिन पैसे के अभाव में 12 वीं कक्षा के बाद नहीं पढ़ पाया। अब कई जगह नौकरी के लिए भी अप्लाई किया लेकिन कोई उसे नौकरी पर नहीं रखता था। एक तो चोर का बेटा ऊपर से केवल 12 वीं पास तो कोई नौकरी पर नहीं रखता था। अब बेचारा बेरोजगार की तरह ही दिन रात घर पर ही पड़ा रहता। मुरारी को बेटे की चिंता हुई तो सोचा कि क्यों ना इसे भी अपना काम ही सिखाया जाये। जैसे मैंने चोरी कर करके अपना गुजारा किया वैसे ये भी कर लेगा। यही सोचकर मुरारी एक दिन बेटे को अपने साथ लेकर गया। रात का समय था